BJP-RSS को देश के दुख-दर्द से नहीं पड़ता फर्क, ये सत्ता के लिए मणिपुर क्या पूरे देश को जला देंगे: राहुल गांधी

0
102

मणिपुर में हुई हिंसा और दो महिलाओं के साथ हुई बर्बरता को लेकर विपक्ष का सड़क से संसद तक संग्राम जारी है। विपक्षी सांसद सदन में पीएम मोदी के बयान पर अड़े हुए हैं। उधर, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी विपक्षी की इस मांग पर चुप्पी साधी है। इन सबके बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री की चुप्पी को लेकर एक बार फिर हमला बोला है। यूथ कांग्रेस के कार्यक्रम को संबोधित करते हुए राहुल गांधी ने कहा कि सबने देखा कि मणिपुर में क्या हो रहा है और क्या हो रहा है।

पीएम मोदी ने मणिपुर के बारे में एक शब्द नहीं कहा, आपको लगा होगा कि देश का प्रधानमंत्री कुछ ना कुछ तो कहेगा। आपमे से कई लोगों को लगा होगा की देश का पीएम हवाई जहाज से जाकर इंफाल में लोगों से बात करेगा। कांग्रेस के दौर में पीएम तो यही करते थे।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी मणिपुर के लिए क्या कर रहे हैं? वे मणिपुर के बारे में कुछ बोल क्यों नहीं रहे हैं? ऐसा इसलिए है क्योंकि नरेंद्र मोदी जी को मणिपुर से कोई लेना देना नहीं है। वो चुने हुए लोगों के पीएम हैं, RSS के पीएम हैं। उन्हें मणिपुर से लेना देना नहीं है। राहुल गांधी ने आगे कहा कि वो जानते हैं कि उनकी ही विचारधारा ने मणिपुर को जलाया है। लेकिन मणिपुर में जो दुख दर्द है उससे पीएम मोदी को कोई फर्क नहीं पड़ता।कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने आगे कहा कि RSS-BJP और कांग्रेस के बीच विचारधारा की लड़ाई चल रही है। जहां कांग्रेस की विचारधारा- संविधान की रक्षा, देश को जोड़ने और सामाजिक असमानता के खिलाफ लड़ने की है। वहीं RSS-BJP चाहती है कि कुछ चुनिंदा लोग यह देश चलाएं और देश का सारा धन उन्हीं के हाथ में हो। BJP-RSS सिर्फ सत्ता चाहती है और सत्ता पाने के लिए ये कुछ भी कर सकती है। सत्ता के लिए ये मणिपुर को जला देंगे, सारे देश को जला देंगे। इनको देश के दुख और दर्द से कोई फर्क नहीं पड़ता।राहुल गांधी ने कहा कि आपके दिल में देशप्रेम है। जब देश को चोट लगती है, देश के किसी नागरिक को चोट लगती है तो आपके दिल को भी चोट लगती है। आप उदास हो जाते हैं। मगर BJP-RSS के लोगों को कोई दुःख नहीं, कोई दर्द नहीं हो रहा, क्योंकि ये हिंदुस्तान को बांटने का काम कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here