Homeख़बरेंराहुल गांधी बोले, 'मैं आरएसएस के ऑफिस में नहीं जा सकता, मेरा...

राहुल गांधी बोले, ‘मैं आरएसएस के ऑफिस में नहीं जा सकता, मेरा गला काटना पड़ेगा’, सुरक्षा में चूक पर भी दिया जवाब

‘भारत जोड़ो यात्रा’ के तहत कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने पंजाब के होशियारपुर में प्रेस कॉन्फ्रेंस की। इस दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने देश में अमीरों और गरीबों के बीच बढ़ती खाई का मुद्दा उठाया। राहुल गांधी ने कहा, देश के 1 फीसदी लोगों के पास देश की 40 फीसदी संपत्ति है। उन्होंने कहा देश में 21 लोगों के पास उतना धन है, जितना 70 करोड़ लोगों के पास है।

इस दौरान राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पर हमला बोलते हुए राहुल गांधी ने कहा “मैं आरएसएस के ऑफिस में कभी नहीं जा सकता, मेरा गला काटना पड़ेगा।” वरुण गांधी पर राहुल गांधी ने कहा “वो बीजेपी में हैं, मेरी विचारधारा उनसे नहीं मिलती। मैं आरएसएस के दफ्तर में नहीं जा सकता चाहे मेरा गला काट दिया जाए। वरुण ने उस विचारधारा को अपनाया, उनसे मिल सकता हूं, गले लगा सकता हूं लेकिन उनकी विचारधारा नहीं अपना सकता।”

मैं RSS के ऑफिस में कभी नहीं जा सकता, आपको मेरा गला काटना पड़ेगा।

@RahulGandhi जी pic.twitter.com/zyTBCgmOlh— Congress (@INCIndia) January 17, 2023

सुरक्षा में चूक पर जानें क्या बोले राहुल गांधी

वहीं, राहुल गांधी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान सुरक्षा में चूक की खबरों पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “कौन सी सुरक्षा में चूक हुई थी। वह मुझे गले लगाने आया था और अति उत्साहित था। इसे सुरक्षा में चूक नहीं कहेंगे, यात्रा में ऐसा होता रहता है।”

दरअसल, पंजाब के होशियारपुर में ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के दौरान मंगलवार को एक व्यक्ति राहुल गांधी की ओर दौड़कर आया और उन्हें गले लगाने की कोशिश की, लेकिन उनके साथ चल रहे पार्टी की पंजाब इकाई के प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग ने उसे वहां से हटा दिया।

पुलिस महानिरीक्षक जी. एस. ढिल्लों ने बताया कि गांधी ने खुद उस व्यक्ति को बुलाया था और सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है। वडिंग ने भी कहा कि सुरक्षा में कोई चूक नहीं हुई है और वह व्यक्ति गांधी का एक उत्साही समर्थक था। इस घटना के वीडियो में जैकेट पहने व्यक्ति को राहुल गांधी की ओर दौड़ते और उन्हें गले लगाने की कोशिश करते देखा जा सकता है। व्यक्ति ने गांधी को जैसे ही गले लगाने की कोशिश की, तभी उनके साथ चल रहे कांग्रेस की पंजाब इकाई के प्रमुख अमरिंदर सिंह राजा वडिंग और पार्टी के अन्य कार्यकर्ताओं ने उसे रोककर पीछे धकेल दिया।

पुलिस महानिरीक्षक ढिल्लों ने कहा, ‘‘ मैंने तथ्य खंगाले हैं। राहुल जी ने खुद उसे बुलाया और फिर उसने उन्हें गले लगाने की कोशिश की। इसके बाद राजा वडिंग ने उन्हें पीछे धकेल दिया क्योंकि यात्रा एक गति से चलती है और इससे उसकी गति बाधित हो रही थी।’’ उन्होंने कहा कि ऐसा कुछ सामने नहीं आया जिससे सुरक्षा में चूक होने के संकेत मिले।

कांग्रेस की ‘भारत जोड़ो यात्रा’ कड़ाके की ठंड के बीच गांधी के नेतृत्व में मंगलवार को सुबह पंजाब के टांडा से आगे बढ़ी। यात्रा के दौरान मुकेरियां में रात्रि विश्राम किया जाएगा।

तमिलनाडु के कन्याकुमारी से सात सितंबर को शुरू हुई ‘भारत जोड़ो यात्रा’ 30 जनवरी को श्रीनगर में संपन्न होगी, जहां राहुल गांधी जम्मू-कश्मीर की ग्रीष्मकालीन राजधानी में तिरंगा फहराएंगे। यह पदयात्रा अभी तक तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, महाराष्ट्र, मध्य प्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और हरियाणा से होकर गुजर चुकी है।

कांग्रेस सांसद संतोख सिंह चौधरी के शनिवार को निधन के कारण यह यात्रा 24 घंटे के लिए रोक दी गयी थी। चौधरी को यात्रा के दौरान दिल का दौरा पड़ा था। उनका रविवार को जालंधर के उनके पैतृक गांव धालीवाल में अंतिम संस्कार किया गया था। रविवार दोपहर जलंधर से यात्रा फिर शुरू हुई थी। कन्याकुमारी से कश्मीर तक की कांग्रेस की इस यात्रा का पंजाब चरण बुधवार को फतेहगढ़ साहिब में सरहिंद से शुरू हुआ था।

गौरतलब है कि कांग्रेस ने पिछले महीने गृह मंत्री अमित शाह को पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि राष्ट्रीय राजधानी में यात्रा के दौरान ‘‘सुरक्षा का उल्लंघन’’ किया गया। उसने यात्रा में भाग ले रहे गांधी और अन्य लोगों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए तत्काल कदम उठाए जाने की मांग की थी।

केंद्र सरकार ने इन आरोपों को खारिज करते हुए कहा था कि निर्धारित दिशानिर्देशों के अनुसार गांधी के लिए ‘‘पूरी’’ सुरक्षा व्यवस्था की गई है, लेकिन उन्होंने खुद 2020 से 113 बार सुरक्षा प्रोटोकॉल का ‘‘उल्लंघन’’ किया।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments