Homeराज्यउत्तर प्रदेशपूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक चन्द्र वीर रमण के नेतृत्व में माल लदान...

पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबंधक चन्द्र वीर रमण के नेतृत्व में माल लदान व एल.एच.बी कोचों के मेंटेनेंस में बनाया रिकॉर्ड

गोरखपुर:पूर्वोत्तर रेलवे के महाप्रबन्धक चन्द्र वीर रमण के नेतृत्व में पूर्वोत्तर रेलवे प्रशासन ने सुनियोजित कार्य पद्वति अपनाकर एवं आधुनिक तकनीक का उपयोग करते हुए वर्ष 2022-23 में माल लदान, निर्माण कार्य, स्क्रैप निस्तारण एवं एल.एच.बी. कोचों के अवधिक अनुरक्षण के क्षेत्र में रिकार्ड स्थापित किया है।
पूर्वोत्तर रेलवे पर मुख्यालय एवं मंडलों के समन्वित विपणन प्रयासों के फलस्वरूप वर्ष 2021-22 में हुए 3.36 मीलियन टन माल लदान की तुलना में वर्ष 2022-23 में 3.66 मीलियन टन माल का लदान हुआ जो कि एक रिकार्ड है। वर्ष 2018-19 में 1.83 मीलियन टन, वर्ष 2019-20 में 2.40 मीलियन टन तथा वर्ष 2020-21 में 2.64 मीलियन टन माल का लदान हुआ था।
इस रेलवे पर निर्माण के क्षेत्र में उल्लेखनीय उपलब्धि दर्ज की गयी है। वर्ष 2022-23 में 240 किमी. दोहरीकरण तथा 35 किमी. आमान परिवर्तन का कार्य पूरा किया गया। 240 किमी. दोहरीकरण एवं 35 किमी. आमान परिवर्तन पिछले एक दशक का सर्वाधिक कार्य सम्पादन है जो कि एक रिकार्ड है।
पूर्वोत्तर रेलवे पर रेलवे बोर्ड द्वारा स्क्रैप निस्तारण से प्राप्त आय हेतु निर्धारित लक्ष्य रू. 145 करोड़ के सापेक्ष 212.5 करोड़ की आय हुई जो निर्धारित लक्ष्य से 46.6 प्रतिशत अधिक है। इसी प्रकार यांत्रिक कारखाना, गोरखपुर में वर्ष 2022-23 में 739 एल.एच.बी. कोचों का आवधिक अनुरक्षण किया गया जो कि इस कारखाने में एक वर्ष में एल.एच.बी. कोचों का सर्वाधिक अनुरक्षण है।
महाप्रबन्धक चन्द्र वीर रमण ने इन उपलब्धियों हेतु सभी अधिकारियों एवं कर्मचारियों को बधाई दी है और आशा व्यक्त की आप सभी के समर्पित प्रयासो से पूर्वोत्तर रेलवे नित नई ऊॅचाईयां छूएगा।

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments